ads

CELL REFERENCE क्या है | Cell Reference Uses in Excel in Hindi


CELL REFERENCE क्या है | Cell Reference Uses in Excel in Hindi

सेल एड्रेस

किसी भी सैल को उसकी पंक्ति संख्या और कालम के नाम के जोड़े से पहचाना जाता है। जिसे Cell Address कहते है। प्रत्येक सेल का सेल एड्रेस उसके Name Box में दिखाया जाता है।

cell-address-kya-hai-in-hindi

उदाहरण- जैसे माना किसी सेल का कालम B तथा उस सेल की पंक्ति संख्या 3 है तब उस सेल का Cell Address B3 होगा।

प्रत्येक सेल का सेल एड्रेस यूनीक होता है कभी भी दो सेल का सेल एड्रेस समान नही हो सकता है।

यदि आप एक से अधिक सेल्स एक साथ सिलेक्ट करते है तब उसका सेल एड्रेस उसके पहले सेल तथा अन्तिम सेल से मिलकर बनता है।

cell-address-uses-in-hindi

उदाहरण- जैसे आप B3 से D5 तक की रेंज को सिलेक्ट करते है तब इसका सेल एड्रेस B3:D5 होगा। जिसमें B3 पहला सेल तथा D5 अन्तिम सेल है।

cell-address-in-excel-in-hindi

इस उदाहरण में आपने B3 से B6 तक की रेंज को सिलेक्ट किया है इस सिलेक्सन का सेल एड्रेस B3:B6 होगा। जिसमें B3 पहला सेल तथा B6 अन्तिम सेल है।

cell-reference-examples-in-hindi

इस उदाहण में आपने B3 से F3 तक की रेंज को सिलेक्ट किया है इस सिलेक्शन का सेल एड्रेस B3:F3 होगा। जिसमें B3 पहला सेल तथा F3 अन्तिम सेल है।

Cell Reference क्या है - What is Cell Reference in hindi

जब आप सेल एड्रेस को किसी Formula या Function में प्रयोग करते है तब उस cell address को उस फंक्शन का Cell Reference- सेल सन्दर्भ कहते है।

cell-reference-uses-in-excel-in-hindi

यहाँ पर Sum Function का सेल रेफरेन्स C2:C5 है जो सम फंक्शन को यह निर्देश देता है कि आपको C2:C5 रेंज के सभी सैलों को जोड़ना है।

सेल रेफरेन्स तीन प्रकार के होते है - Types of cell reference

  • Absolute Cell Reference
  • Relative Cell Reference
  • Mixed Cell Reference

    आइये सेल रेफरेन्स के सभी प्रकार को एक-एक करके सीखते है-

    1. Absolute Cell Reference

    इस प्रकार के सेल रेफरेन्स में कालम का नाम तथा रो संख्या दोनो के पहले डालर चिन्ह ($) का प्रयोग किया जाता है। जो हमे यह बताता है कि यह रेफरेन्स अपरिवर्तित है। किसी रेफरेन्स को Absolute Cell Reference में परिवर्तित करने के लिए उस रेफरेन्स पर कर्सर को ले जाकर F4 कुंजी का प्रयोग करते है।

    cell-reference-kya-hai-kaise-uses-kare

    उदाहरण- फंक्शन बाले सेल (D2) को दूसरे सेलों E4 तथा F3 में कापी किया है क्योकि इस फंक्शन में Absolute Cell Reference का प्रयोग किया गया है। इसलिए दूसरे सेल E4 तथा F3 दोनो सेल B2 तथा C3 का Sum Calculate करेंगा।

    यह भी पढ़े-

  • Formula Operators क्या होता है कैसे बिना फंक्शन के एक्सेल में कैल्कुलेशन करें

    2. Relative Cell Reference

    इस प्रकार के सेल सन्दर्भों में डालर चिन्ह ($) का प्रयोग नही किया जाता है। जो हमें यह बताता है कि इस सेल रेफरेन्स का कालम तथा रो दोनो परिवर्तित है।

    अर्थात आप इस रेफरेन्स वाले फार्मूला या फंक्शन का किसी दूसरे सेल में कापी करने पर इसका रेफरेन्स नई स्थिति के अनुसार परिवर्तित हो जाता है।

    relative-cell-reference-use-in-excel-in-hindi
    relative-cell-reference-kya-hai-in-hindi
    उदाहरण-

  • आपके समझने के लिए सेल D2 को दूसरे दो सेलों D4 तथा E3 में कॉपी किया गया है।
  • Relative Cell Reference होने की वजह से प्रत्येक फंक्शन का सेल रेफरेन्स परिवर्तित होगा।
  • सेल D4 दोनो सेल B4 तथा C4 का सम कैल्कुलेट करता है।
  • सेल F4 दोनो सेल D3 तथा E3 का सम कैल्कुलेट करता है।
  • सेल D4 तथा F4 के सेल रेफरेन्स अपनी नई स्थिति के अनुसार बदल गए है।

    3. Mixed Cell Reference

    इस प्रकार के सेल सन्दर्भों में या तो कॉलम या रो दोनो में से एक के साथ डालर चिन्ह ($) का प्रयोग किया जाता है। कालम या रो मे से जिसके साथ डालर चिन्ह का प्रयोग किया जाता है वह आपरिवर्तित होता है। मेरे कहने का अर्थ यह है कि आप Column या Row में से एक को फिक्स कर सकते है कि वह परिवर्तित न हो।

    $B2- कॉलम fix करना अर्थात कॉलम परिवर्तित न हो।
    B$2- पंक्ति fix करना अर्थात पंक्ति परिवर्तित न हो।

    Column Fix करना-

    how-to-fix-column-in-hindi-in-excel

    इस फंक्शन में कॉलम B तथा कॉलम C के पहले डॉलर चिन्ह का प्रयोग किया गया है अर्थात कॉलम B तथा कॉलम C दोनो fix हो गये अब आप इस फंक्शन वाले सेल को पूरी स्प्रेडशीट में कही पर भी कॉपी करें। यह फंक्शन कॉलम B तथा कॉलम C का ही Sum Calculate करेगा।

    column-fix-kaise-kare-in-excel-in-hindi

    Image में आपने देखा कि D2 को कई सेल में कॉपी किया गया है जिस पंक्ति में कॉपी करते है वह उसी पक्ति के कॉलम B तथा कॉलम C के सेल की संख्याओं का Sum Calculate करता है।

    इस प्रकार से आप Column को fix कर सकते है।

    Row Fix करना-

    जिस रो को आप फिक्स करना चाहते है उस पक्ति संख्या के पहले डालर चिन्ह का प्रयोग किया जाता है।

    how-to-fix-column-in-hindi-in-excel

    उदाहरण- आपके समझने के लिए सेल C4 को दूसरे सेलों D6,E5,F7 में कॉपी किया है क्योकि पंक्ति 2 तथा 3 को fix कर दिया है इसलिए केवल यह उन्ही दो पक्तियों की वैल्यू को Sum करता है।

    column-fix-kaise-kare-in-excel-in-hindi

    इस तरीके से आप cell reference का प्रयोग करके किसी फार्मूला या फंक्शन को और अधिक पावरफुल बना सकते है तथा फंक्शन के सेल रेफरेन्स को बार-बार टाइप करने से बच सकते है।

    निष्कर्ष

    इस लेख में सेल रेफरेन्स से संबंधित पूरी जानकार आप तक पहुंचाने की कोशिश की है मुझे उम्मीद है कि यह लेख आपको पसंद आया होगा फिर भी यदि आपको इस लेख से संबंधित कोई सबाल है तो आप हमसे कमेंट के माध्यम से पूछ सकते है।

  • Post a Comment

    0 Comments